उत्तराखंड राज्य में ट्रैकिंग के लिए सर्वोत्तम स्थान || Best places for trekking in the state of Uttarakhand

0

उत्तराखंड, उत्तर भारत का एक खुशहाल राज्य है, जो अपनी प्राकृतिक सुंदरता, पहाड़ी इलाकों और जैव विविधता के लिए जाना जाता है। यह ट्रेकिंग और लंबी पैदल यात्रा जैसी साहसिक गतिविधियों के लिए भी एक लोकप्रिय स्थल है। उत्तराखंड में ऐसी कई जगहें हैं जहां आप ट्रेकिंग और ट्रैकिंग गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं। हम यहाँ उत्तराखंड राज्य में ट्रैकिंग के लिए सर्वोत्तम स्थानों पर चर्चा करने वाले।

1. फूलों की घाटी राष्ट्रीय उद्यान || Valley of Flowers National Park

फूलों की घाटी उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित एक राष्ट्रीय उद्यान है। पार्क अपने रंगीन फूलों और विदेशी वनस्पतियों और जीवों के लिए प्रसिद्ध है। फूलों की घाटी घूमने का सबसे अच्छा समय जून और अक्टूबर के बीच होता है जब फूल पूरी तरह खिल जाते हैं। पार्क एशियाई काले भालू, भूरे भालू और हिम तेंदुए जैसी दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजातियों का घर है।

फूलों की घाटी की यात्रा गोविंदघाट से शुरू होती है, जो जोशीमठ से लगभग 20 किमी दूर है। ट्रेक लगभग 16 किमी लंबा है और इसे पूरा करने में लगभग 6-7 घंटे लगते हैं। पगडंडी घने जंगलों, नदी की धाराओं और घास के मैदानों से होकर गुजरती है। ट्रेक मध्यम कठिन है और औसत फिटनेस वाला कोई भी व्यक्ति इसे कर सकता है।

2. केदारकांठा ट्रेक || Kedarkantha Trek

केदारकांठा उत्तराखंड में एक लोकप्रिय ट्रेकिंग स्थल है। यह उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित है और अपनी प्राकृतिक सुंदरता और बर्फ से ढके पहाड़ों के लिए जाना जाता है। केदारकांठा की यात्रा सांकरी से शुरू होती है, जो देहरादून से लगभग 200 किमी दूर है। ट्रेक लगभग 20 किमी लंबा है और इसे पूरा करने में लगभग 4 दिन लगते हैं।

पगडंडी घने जंगलों, घास के मैदानों और दूरदराज के गांवों से होकर गुजरती है। ट्रेक मध्यम कठिन है और औसत फिटनेस वाला कोई भी व्यक्ति इसे कर सकता है। केदारकांठा का शिखर हिमालय के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है और फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए एक आदर्श स्थान है।

और पढ़ें: उत्तराखंड राज्य में सर्वश्रेष्ठ ग्रीष्मकालीन पर्यटन स्थल || Best Summer Tourist Places In Uttarakhand State

3. हर की दून ट्रेक || Har Ki Doon Trek

हर की दून उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित एक खूबसूरत घाटी है। घाटी बर्फ से ढके पहाड़ों से घिरी हुई है और विदेशी वनस्पतियों और जीवों का घर है। हर की दून का ट्रेक सांकरी से शुरू होता है और लगभग 30 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 6-7 दिन लगते हैं और यह मध्यम कठिन है।

पगडंडी घने जंगलों, नदी की धाराओं और दूरदराज के गांवों से होकर गुजरती है। घाटी हिम तेंदुए भी रहते है और वन्यजीव उत्साही लोगों के लिए एक आदर्श स्थान है। हर की दून का शिखर आसपास के पहाड़ों के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है।

 4. रूपकुंड ट्रेक || Roopkund Trek

रूपकुंड उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित एक हिमनद झील है। झील मनुष्यों और जानवरों के कंकाल अवशेषों के लिए प्रसिद्ध है जो इसके तल पर दिखाई देते हैं। रूपकुंड का ट्रेक लोहाजंग से शुरू होता है और लगभग 50 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 7-8 दिन लगते हैं और यह मध्यम रूप से कठिन है।

और पढ़ें: उत्तराखंड में सबसे ज्यादा देखे वाले पर्यटन स्थल || Most Visited Tourist Places In Uttarakhand

पगडंडी घने जंगलों, घास के मैदानों और दूरदराज के गांवों से होकर गुजरती है। झील एशियाई काले भालू, भूरे भालू और हिम तेंदुए जैसी दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजातियों का भी घर है। रूपकुंड का शिखर आसपास के पहाड़ों के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है। 

5. नाग टिब्बा ट्रेक || Nag Tibba Trek

नाग टिब्बा उत्तराखंड के गढ़वाल क्षेत्र में स्थित एक खूबसूरत चोटी है। चोटी अपनी प्राकृतिक सुंदरता और आसपास के पहाड़ों के मनोरम दृश्यों के लिए जानी जाती है। नाग टिब्बा का ट्रेक पंतवारी से शुरू होता है और लगभग 12 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 2 दिन लगते हैं और यह आसान से मध्यम है।

पगडंडी घने जंगलों, घास के मैदानों और दूरदराज के गांवों से होकर गुजरती है। नाग टिब्बा का शिखर आसपास के पहाड़ों के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है और एक आदर्श स्थान है

6. पिंडारी ग्लेशियर ट्रेक || Pindari Glacier Trek

पिंडारी ग्लेशियर उत्तराखंड के कुमाऊं क्षेत्र में स्थित एक खूबसूरत ग्लेशियर है। ग्लेशियर अपनी प्राकृतिक सुंदरता और बर्फ से ढके पहाड़ों के लिए जाना जाता है। पिंडारी ग्लेशियर का ट्रेक सौंग से शुरू होता है और लगभग 40 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 5-6 दिन लगते हैं और यह मध्यम रूप से कठिन है।

ट्रेक के घने जंगलों, घास के मैदानों और दूर दराज के गांवों से होकर गुजरती है। ग्लेशियर हिमालयी काले भालू, कस्तूरी मृग और हिम तेंदुए जैसी दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजातियों का भी घर है।

और पढ़ें: उत्तराखंड राज्य में घूमने के लिए सर्वोत्तम प्राकृतिक स्थल || Best Natural Places To Visit In Uttarakhand State

7. डोडीताल ट्रेक || Dodital Trek

डोडीताल उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित एक खूबसूरत झील है। झील बर्फ से ढके पहाड़ों से घिरी हुई है और विदेशी वनस्पतियों और जीवों का घर है। डोडीताल का ट्रेक संगमचट्टी से शुरू होता है और लगभग 20 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 4-5 दिन लगते हैं और यह आसान से मध्यम है।

पगडंडी घने जंगलों, घास के मैदानों और दूरदराज के गांवों से होकर गुजरती है। झील हिमालयी काले भालू, कस्तूरी मृग और हिम तेंदुए जैसी दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजातियों का भी घर है।

और पढ़ें: केरल में पर्यटकों के लिए प्रमुख 10 खूबसूरत समुद्र तट || Top 10 Beautiful Beaches For Tourists In Kerala

8. कुआरी पास ट्रेक || Kuari Pass Trek

कुआरी दर्रा उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित एक खूबसूरत दर्रा है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता और आसपास के पहाड़ों के मनोरम दृश्यों के लिए जाना जाता है। कुआरी पास का ट्रेक जोशीमठ से शुरू होता है और लगभग 30 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 5-6 दिन लगते हैं और यह मध्यम कठिन है।

ट्रेक घने जंगलों, घास के मैदानों और दूरदराज के गांवों से होकर गुजरती है। कुआरी पास का शिखर आसपास के पहाड़ों के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है और फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए एक आदर्श स्थान है। पास सर्दियों के मौसम में स्कीइंग और स्नोबोर्डिंग के लिए भी एक लोकप्रिय स्थान है।

9. देवरिया ताल ट्रेक || Deoria Tal Trek

देवरिया ताल उत्तराखंड के रुद्रप्रयाग जिले में स्थित एक खूबसूरत झील है। झील बर्फ से ढके पहाड़ों से घिरी हुई है और विदेशी वनस्पतियों और जीवों का घर है। देवरिया ताल का ट्रेक साड़ी गांव से शुरू होता है और लगभग 5 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 2-3 घंटे लगते हैं और यह आसान है।

झील हिमालयी काले भालू, कस्तूरी मृग और हिम तेंदुए जैसी दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजातियों का भी घर है। देवरिया ताल का शिखर आसपास के पहाड़ों के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है और फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए एक आदर्श स्थान है।

और पढ़ें: भारत की प्रसिद्ध और प्रमुख झीलें || Famous And Major Lakes Of India

10. गंगोत्री ग्लेशियर ट्रेक || Gangotri Glacier Trek

गंगोत्री ग्लेशियर उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में स्थित एक खूबसूरत ग्लेशियर है। ग्लेशियर अपनी प्राकृतिक सुंदरता और बर्फ से ढके पहाड़ों के लिए जाना जाता है। गंगोत्री ग्लेशियर का ट्रेक गंगोत्री से शुरू होता है और लगभग 20 किमी लंबा है। ट्रेक को पूरा होने में लगभग 6-7 दिन लगते हैं और यह मध्यम कठिन है।

ट्रेक घने जंगलों, घास के मैदानों और दूरदराज के गांवों से होकर गुजरती है। ग्लेशियर हिमालयी काले भालू, कस्तूरी मृग और हिम तेंदुए जैसी दुर्लभ और लुप्तप्राय प्रजातियों का भी घर है। गंगोत्री ग्लेशियर का शिखर आसपास के पहाड़ों के लुभावने दृश्य प्रस्तुत करता है और फोटोग्राफी के शौकीनों के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *